आईपीएस ट्रेनी को मिली थानेदारी तो क्षेत्र में मचा हड़कंप, जानिए आईपीएस की कार्यप्रणाली

2020 बैच की ट्रेनी आईपीएस शिवा सिंह अपने कार्यों के कारण बिठूर थाना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। जिनकी जॉइनिंग के पास से थाना क्षेत्र में चल रहे अवैध कार्यों पर रोग लग गया है और यह अवैध कार्य बिना पुलिस की रजामंदी से नहीं हो सकते हैं। यह अभी जग जाहिर है। स्वाभाविक है कमाई बंद होने से विभागीय लोगों को परेशानी भी होगी। बताते हैं थाना में रिश्वतखोरी लगभग बंद हो गई है। लगातार जनता के बीच रहकर शिवा सिंह उनकी समस्याओं को सुनकर समाधान कर रही हैं। जिससे लोगों में लोकप्रिय भी हो रही हैं।

बिठूर थाना प्रभारी बनने के पहले आईपीएस ट्रेनिंग शिवा सिंह गोविंद नगर थाना के प्रभारी बन चुकी है। इसके साथ ही जिलाधिकारी कार्यालय में भी अपनी सेवाएं दे चुकी हैं। जिन्हें कानपुर आईपीएस कमिश्नरी में तैनाती मिली है। बीते अप्रैल महीने में शिवा सिंह ने बिठूर थाना अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली है इस दौरान उन्होंने क्षेत्र में चलने वाले अवैध खनन जुआ सट्टा आज को बंद करा दिया। इसके साथ ही थाने में तैनात पुलिसकर्मियों को भी पुलिसिंग का पाठ पढ़ाया। जिससे थाना परिसर में ईमानदारी की हवा बह रही है।

लोगों की समस्याओं को गंभीरता से लेती हैं

आईपीएस ट्रेनिंग शिवा सिंह की खासियत है की थाना परिसर में आने वाली शिकायतों को संज्ञान में लेने के बाद उन पर कार्यवाही करती हैं। जिससे कि फरियादियों की समस्याओं का समाधान होता है। बिठूर क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में फैली अराजकता को समाप्त करने में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान है घरेलू हिंसा से लेकर बिना हेलमेट वाहन चलाने वालों को भी उन्होंने सबक सिखाने का काम किया। आईपीएस ट्रेनिंग शिवा सिंह अच्छी पुलिसिंग का उदाहरण प्रस्तुत कर रही है।