केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी के एक स्कूल की छात्रा से कहा वह खुद उसे अगले महीने इसरो लेकर जाएंगी

गौरीगंज विधानसभा क्षेत्र के दुर्गन भवानी धाम के निकट एक निजी शिक्षण संस्थान का उद्घाटन करने मंगलवार को पहुंचीं केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने जब संजय गांधी पॉलिटेक्निक जगदीशपुर की छात्रा नीतू मौर्या को टैबलेट देते हुए पूछा, ‘‘तुम आगे क्या करना चाहती हो?’’ तो नीतू ने कहा, ‘‘मैं इसरो जाना चाहती हूं और वैज्ञानिक बनना चाहती हूं।’’

इस पर, केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘यह छात्रा इसरो जाना चाहती है, वैज्ञानिक बनना चाहती है। इस छात्रा को मैं अगले महीने स्वयं इसरो लेकर जाऊंगी।’’ उन्होंने कहा कि अमेठी के लिए यह गर्व की बात होगी कि यहां की एक छात्रा इसरो जाना चाहती है और वैज्ञानिक बनना चाहती है। एक दिन नीतू जरूर अमेठी का नाम रोशन करेंगी।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘मैं छात्र-छात्राओं से अपील करना चाहती हूं, वह जो कुछ करना चाहते हैं, मैं उनकी हर संभव मदद करने के लिए तैयार हूं।’’ ईरानी ने कहा, ‘‘अमेठी जिला में अब तक 11672 छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्टफोन का वितरण किया गया है, मैं इसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद करती हूं।’’

उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्टफोन उपलब्ध करा कर शिक्षा में आने वाली कठिनाइयों को दूर करने का काम किया है। इससे पूर्व ईरानी ने जयपुरिया शिक्षण संस्थान का उद्घाटन किया और वहां छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन और टैबलेट का वितरण किया।