Rajasthan Politics: राजस्थान कांग्रेस के संकट पर भाजपा का राहुल गांधी पर तंज, कहा- पहले इन्हें जोड़ लो

राजस्थान पॉलिटिक्स अपडेट न्यूज़ राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच बीजेपी ने कांग्रेस पर तंज कसा है. केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने राहुल गांधी, अशोक गहलोत और सचिन पायलट की तस्वीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने भारत जोड़ी यात्रा पर कमेंट किया है.

राजस्थान में नए सीएम को लेकर पेंच फंसा हुआ है. माना जा रहा था कि अशोक गहलोत के दिल्ली आने के बाद सचिन पायलट राज्य के नए मुखिया बनेंगे. इस बीच कांग्रेस विधायकों की बगावत से पूरी कहानी ही बदल गई है। गहलोत गुट के विधायक सचिन पायलट को सीएम पद के तौर पर नहीं देखना चाहते हैं. बस इसी नाराजगी ने उन्हें इस्तीफा देने के लिए मजबूर कर दिया।

विधायकों का कहना है कि हम सचिन पायलट को सीएम पद पर नहीं देखना चाहते. सीएम पद के लिए गहलोत गुट के विधायकों के अलावा खुद सीएम अशोक गहलोत ने सचिन का नाम स्वीकार नहीं किया. वह शुरू से ही सीपी जोशी को अपना सीएम देखना चाहते हैं।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर भाजपा का तंज

राजस्थान कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद को लेकर जारी संकट से भाजपा में खुशी का माहौल है। इस मुद्दे पर बीजेपी नेताओं ने इंटरनेट मीडिया पर ट्वीट करना शुरू कर दिया है. केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने ट्विटर पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सचिन पायलट की तस्वीर शेयर की. इस तस्वीर को राहुल गांधी ने चार साल पहले खुद शेयर किया था।

इस फोटो के साथ भूपेंद्र यादव ने लिखा- प्लीज पहले इन्हें जोड़ें. साफ है कि उनकी खींचतान राहुल गांधी की भारत जोड़ी यात्रा को लेकर थी. बीजेपी इससे पहले भी भारत जोड़ी यात्रा का मजाक उड़ाती रही है. उनके मुताबिक कांग्रेस को पहले एक पार्टी जोड़ने पर ध्यान देना चाहिए. हाल के दिनों में कई वरिष्ठ नेता कांग्रेस छोड़ चुके हैं।

विधायकों ने गहलोत को ही माना अपना नेता

उधर कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि विधायकों ने अशोक गहलोत को अपना नेता माना है. यदि विधायकों की इच्छा के आधार पर मुख्यमंत्री का चयन होता है तो सरकार ठीक से चलती रहेगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो सरकार गिरने का खतरा है।

कांग्रेस के खिलाफ बगावत करने पर पायलट को घेरा

लोक दल कोटे से राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बिना नाम लिए पायलट पर हमला बोल दिया. गर्ग ने कहा कि राज्य की कमान उन (पायलटों) को सौंपने की तैयारी की जा रही है, जिन्होंने दो साल पहले सरकार गिराने की कोशिश की थी. यह पार्टी और सरकार दोनों को कमजोर कर सकता है।