कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन से जुड़ी शहर की एक फर्म में छापामारी

कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। जीएसटी की विजिलेंस टीम ने इत्र कारोबार से जुड़ी शहर की एक फर्म में छापामारी की। इटावा और फर्रुखाबाद की संयुक्त टीम ने कन्नौज के इत्र व्यापारी के यहां केवी प्रेगनेंस फर्म पर छापेमारी कर दी। एक ही कैंपस में कारखाना व आवास पर मिले कर्मचारियों को बाहर निकलने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाते हुए जीएसटी के कागजातों की छानबीन शुरू कर दी। हालांकि जांच में क्या मिला इसकी अधिकृत रूप से कोई जानकारी नहीं दी गई।

कन्नौज के इत्र कारोबारी लगातार जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं। पिछले साल इत्र कारोबारी पियूष जैन और उसके बाद दूसरे बड़े इत्र कारोबारी की फर्म पर छापामारी हुई थी। अब सात महीने के बाद फिर से जांच एजेंसियाें ने यहां का रुख किया है। शहर के लाखन तिराहा के करीब स्थित सिपाही ठाकुर मोहल्ले में जीएसटी टीम ने आचनक छापेमारी कर दी। व्यापारी के कारखाने, आवास पर हड़कंप मच गया। तीन गाड़ियों से घर के अंदर प्रवेश करने वाली टीम मुख्य गेट पर अपने कर्मचारियों को लगाकर किसी तरह की आवाजाही पर रोक लगा दी। विजिलेंस टीम इत्र सहित अन्य कारोबार में दी जाने वाली जीएसटी की हेराफेरी की जांच करती रही। हलांकि देर शाम तक कोई अधिकृत बयान जीएसटी टीम ने जारी नहीं किया है। अभी व्यापारी के कारखाने पर खबर लिखे जाने तक जांच-पड़ताल जारी रही।

GST कम जमा करने पर जांच

छापामारी की अगुआई कर रहे विजिलेंस टीम के ज्वाइंट कमिश्नर हरिलाल प्रजापति ने बताया कि केबी फ्रेंगरेंस नाम की फर्म में जीएसटी से जुड़ी गड़बड़ी सामने आई है। पिछले तीन साल से जीएसटी कम जमा किया जा रहा था। इसी की पड़ताल के लिए टीम यहां पहुंची है। अब पूरी तस्वीर जांच के बाद ही सामने आएगी कि जीएसटी कम जमा हुई या नहीं और उसकी वजह क्या रही।

पिछले सात महीने में छठी बार छापामारी

जीएसटी टीम की व्यापारी के यहां अचानक हुई छापेमारी से दूसरे इत्र व्यापारियों में हड़कंप मच गया। व्यापारी अपने माध्यम से पल-पल की अपडेट लेते रहे। कन्नौज शहर में जीएसटी टीम की पिछले सात महीने में यह छठी बार छापेमारी है। इस कारण शहर के व्यापारी बेहद सहमे हुए हैं। व्यापारियों को डर है कि टीम कहीं उनके यहां छापेमारी न कर दे।