गोरखपुर में पुलिस ने तीन युवकों को किया गिरफ्तार, चार अन्य युवकों पर 25 हजार का इनाम

उत्तरप्रदेश : अग्निपथ योजना को लेकर शुक्रवार को पीपीगंज को तोड़े जाने पर अब पुलिस कार्रवाई शुरू हो गई है. पुलिस ने लूटपाट करने वाले अज्ञात युवकों की शिनाख्त के बाद अब उन्हें गिरफ्तार करना शुरू कर दिया है. इसी क्रम में रात साढ़े नौ बजे पुलिस ने तीन युवकों को पीपीगंज कस्बे से गिरफ्तार किया। वहीं, चार अन्य युवकों की पहचान कर उन्हें 25 25 हजार रुपये इनाम देने की भी घोषणा की गई है. माना जा रहा है कि सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों की अब रिकवरी होगी, वहीं अब उनका सेना में भर्ती होने का सपना भी सपना ही रह जाएगा. इतना ही नहीं गैंगस्टर और रासुका के तहत तोड़फोड़ के आरोपितों के खिलाफ भी पुलिस कार्रवाई करेगी.

सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर गुरुवार से जिले के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शन और सड़कों पर जाम लगना शुरू हो गया. जैतपुर और कालेसर जीरो पॉइंट से शुरू हुआ। हालांकि यहां पुलिस ने युवकों को समझाइश देकर शांत किया था। जुमा के दिन शुक्रवार को जब संवेदनशील इलाकों में पुलिस अलर्ट पर थी तो पीपीगंज में अग्निपथ को लेकर बवाल हो गया. सीसीटीवी तस्वीरों और वीडियो के जरिए पुलिस ने सात युवकों की पहचान की और तीन को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार युवकों की पहचान मिथुन चौरसिया पुत्र बेचूलाल चौरसिया निवासी जंगल आघी टोला बड़ी सेंदूरी पीपीगंज थाना क्षेत्र के निवासी मनीष चौरसिया पुत्र रमेश चंद्र चौरसिया व सोनू साहनी पुत्र पन्ने साहनी निवासी जसवाल बाजार पीपीगंज थाना इसी गांव के रूप में हुई है, जबकि चार की तलाश की जा रही है।