अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा में खुल्लम-खुल्ला चली नकल

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में सोशल साइंस पीएचडी की प्रवेश परीक्षा में एक छात्र द्वारा अन्य दो छात्र पर मोबाइल से में नकल करने का सनसनीखेज आरोप लगाया गया। जिसके बाद दोनों छात्रों ने अपने साथियों संग मिलकर छात्र के साथ मारपीट की। सूचना पर एएमयू इंतजामियां के गार्ड मौके पर पहुंच गई और स्थिति को नियंत्रित किया। वहीं एएमयू प्रशासन परीक्षा में किसी भी प्रकार की नकल होने से इंकार कर रहा है। हालांकि छात्र नेता ने छात्र के साथ मारपीट करने वाले आरोपी छात्रों के विरुद्ध कार्रवाई करने के साथ प्रवेश परीक्षा को रद्द करने की मांग की है। उधर, आरोप लगाने वाले छात्र के साथ मारपीट करने वाले युवकों के खिलाफ थाने में तहरीर देते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया है।

छात्र नेता ने प्रशासनिक अधिकारियों पर लगाए आरोप

जानकारी के अनुसार मंगलवार को एएमयू में सोशल साइंस पीएचडी की प्रवेश परीक्षा थी। इस दौरान छात्र ओबेदुल्ला ने परीक्षा दे रहे अन्य दो छात्रों पर मोबाइल द्वारा नकल करने का आरोप लगाते हुए कक्ष निरीक्षक से शिकायत की। लेकिन कक्ष निरीक्षक ने छात्र के आरोप को वेबुनियादी मानते हुए नजरअंदाज कर दिया। परीक्षा के बाद दोनों छात्रों ने अपने साथियों के साथ नकल करने का आरोप लगाने वाले छात्र ओबेदुल्ला के साथ मारपीट कर दी। जब मारपीट की सूचना एएमयू इंतजामियां के गार्ड को मिली तो उन्होंने मौके पर पहुंच कर स्थिति को नियंत्रण में किया। वहीं इस घटना पर छात्र नेता नबील उस्मानी ने बताया कि एएमयू कंट्रोलर व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को पीएचडी की प्रवेश परीक्षा में पूर्व की तरह मोबाइल द्वारा नकल होने का अंदेशा था। उसके बाद भी कंट्रोलर, डीन, एग्जामिनेशन सुपरिंटेंडेंट ने नकल नहीं होने का भरोसा दिया था। सोशल साइंस प्रवेश परीक्षा के दौरान दो छात्र मोबाइल से नकल कर रहे थे।