Lates News & Updates

Mobicates: कहीं आपके गुड मॉर्निंग मैसेज दूसरों को कर तो नहीं रहे परेशान, पढ़ें मोबाइल फोन यूज के शिष्टाचार

Mobicates मोबाइल फोन का यूज बहुत तेजी से बढ़ा है। अब एप्स आने के बाद लोग सोशल मीडिया पर लोग अनावश्यक मैसेज शेयर कर दूसरे लोगाें के फोन की मेमाेरी भर रहे हैं। सामने वाला झुंझला न जाए इससे बेहतर है कि खुद ही संभल जाएं।

सुबह से शाम तक गुड-मार्निंग और गुड नाइट के संदेश भेजना। एक ही फोटो को कई ग्रुपों पर साझा करना। फोन पर जोर–जोर से बात करना।जरूरी बैठक में भी तेज आवाज में रिंगटोन को जारी रखना। यह सब मोबाइल की दुनिया में शिष्टाचार नहीं माने जाते हैं। आज के समय में जितने जरूरी सोशल एटीकेट्स (सामाजिक शिष्टाचार) हैं, उतने ही जरूरी मोबीकेट्स (मोबाइल शिष्टाचार) हैं। आइए जानते हैं कि मोबीकेट्स क्या होते हैं-

इन बाताें का रखें ध्यान

− यदि कॉल वेटिंग चल रही है तो फोन डिस्कनेक्ट कर दें, व्यक्ति फ्री होते ही आपको कॉल बैक कर लेगा।

– जब किसी से बात कर रहे हों तो जरूरी न हो तों मोबाइल पर बात न करें।

– इंटरनेट मीडिया पर अपनी व्यक्तिगत सोच, फोटो या कार्यक्रम के लिए लोगों को टैग न करें।

– एक अंधेरे थिएटर में अपनी स्क्रीन को रोशन न करें।

– फोन पर बात करते समय निकटतम व्यक्ति से कम से कम 10 फीट की दूरी पर रहें। भीड़ में जोर से बात न करें।

– कार्यस्थल पर अपने मोबाइल को साइलेंट या वाइब्रेशन मोड में रखें।

– अपने आधिकारिक नंबर को अपने सभी दोस्तों और रिश्तेदारों के बीच प्रसारित न करें।

– निजी इस्तेमाल के लिए अलग फोन रखें।

– आपके बात करने का तरीका मौखिक संचार में बहुत मायने रखता है। दूसरी पार्टी आपको नहीं देख सकती, यह आपका लहजा है जिससे फर्क पड़ता है।

– महत्वपूर्ण बिंदुओं को लिखने के लिए हमेशा अपने साथ एक नोटपैड और पेन रखें।

– कार्यस्थल पर लंबी व्यक्तिगत कॉल न करें।

– महत्वपूर्ण बैठकों, प्रस्तुतियों या सेमिनारों में भाग लेने के दौरान अपने मोबाइल बंद कर दें। आपात स्थिति में, कॉल अटेंड करने के लिए जगह से बाहर चले जाएं।

– एक ही संदेश कई ग्रुपों पर साझा न करें।

– गुड मार्निंग व गुड नाइट जैसे संदेशों से बचें।

– एक साथ ज्यादा फोटो साझा न करें, इससे दूसरों के मोबाइल की स्पेस कम होती है।

– हाथ में दूसरे का मोबाइल आते ही सीबीआइ अफसर न बन जाएं। जो दिखाने के लिए व्यक्ति ने मोबाइल दिया है, उसे देखें और वापस कर दें।

– मोबाइल में कभी भी लॉक न लगाएं, अपनी खास एप्लीकेशन में लॉक लगा सकते हैं।

Post navigation

Leave a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: