Lumpy Virus: अगर आपकी गाय में है गांठदार वायरस तो तुरंत कॉल करें, आगरा में बना कंट्रोल फॉर्म

लम्पी वायरस के मामले आगरा में लगातार सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए पशुपालन विभाग ने कंट्रोल रूम बनाया है। कर्मचारियों की तीन शिफ्ट में ड्यूटी लगाई गई है। अब तक एक लाख से अधिक गायों का टीकाकरण किया जा चुका है।

ढेलेदार त्वचा रोग (एलएसडी) वायरस आगरा जिले में फैल गया है। इसे रोकने के लिए पशुपालन विभाग लगातार टीकाकरण कर रहा है। इसके बावजूद अगर आपके पशु को कोई परेशानी है तो आप पशुपालन विभाग के कंट्रोल रूम में फोन कर सूचना दे सकते हैं। आपको तुरंत मदद मिलेगी।

पशुपालन विभाग के निदेशक प्रशासन एवं विकास के आदेश पर विकास भवन में कंट्रोल रूम बनाया गया है. जिसका प्रभारी उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी सदर सुरेशचंद वर्मा को बनाया गया है। कंट्रोल रूम में तीन शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। केमलराम की ड्यूटी रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक, मो. 9897156480, सुरेश कुमार वर्मा सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक. 9412342456 व बलवीर सिंह की ड्यूटी दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक मो. आप 8881838476 पर कॉल कर सकते हैं।

एक लाख से अधिक गायों को लगाया जा चुका है टीका

एक लाख से अधिक गायों को लम्पी वायरस से बचाने के लिए उनका टीकाकरण किया जा चुका है। लुंपी वायरस राजस्थान की सीमा से लगे फतेहपुर सीकरी, अछनेरा, खेरागढ़ आदि क्षेत्रों से पूरे जिले में फैल गया है। जिसकी रोकथाम के लिए 32 टीमों का गठन किया गया है। इसके साथ ही राजस्थान सीमा से दस किलोमीटर के दायरे में पहली बार टीकाकरण का कार्य शुरू किया गया। बावजूद इसके पूरे जिले में लम्पी वायरस फैल गया है।

अभी तक नहीं हुई है कोई मौत

मथुरा में कई गायों की मौत हो चुकी है। सौभाग्य से आगरा में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। प्रभारी मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी विजयवीर चंद्रयाल ने कहा कि इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि पीड़ित गायों ने चारा खाना बंद नहीं किया है. जिससे अधिक कमजोरी न हो सके। उन्होंने बताया कि जिन लोगों में लम्पी वायरस के लक्षण दिख रहे हैं वे भी स्वस्थ हो रहे हैं.

इस समय इस नंबर पर करें कॉल

सीवीओ 7900617944

कंट्रोल रूप प्रभारी 9411405562

सुबह 6 बजे से दोपहर दो बजे तक

9412342456

दोपहर दो बजे से रात 10 बजे तक

8881838476

रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक

9897156480

 

लंपी वायरस को लेकर कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिस पर तीन शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके साथ ही मेरे नंबर पर भी फोन कर जानकारी दी जा सकती है।