लखनऊ यूनिवर्सिटी ने पीएचडी सत्र के लिए बदला नियम, अब छात्रों को मिलेगा बड़ा फायदा

अगर आप भी पीएचडी करने का मन बना रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है। लखनऊ यूनिवर्सिटी ने पीएचडी सत्र के लिए एक साल में दो प्रवेश प्रक्रिया पूरी करने का मन बना लिया है। यानी विश्वविद्यालय पहले सत्र 2020-21 के लिए प्रवेश आवेदन लेगा। इसके बाद दिसम्बर माह में सत्र 2022-23 की प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा। ऐसा एक साल पीछे चल रही पीएचडी प्रवेश प्रक्रिया को पटरी पर लाने के लिए किया जा रहा है। क्योंकि कोरोना महामारी की वजह से एलयू का से पीएचडी सत्र एक साल पिछड़ गया था। इतना ही नहीं विश्वविद्यालय में सत्र 2021-22 के लिए विभागों ने सीट का ब्योरा भी मांगा गया है। ये ब्योरा 20 जून तक देना था। वहीं प्रवेश नियंत्रक प्रो. पंकज माथुर ने बताया कि पीएचडी प्रवेश के लिए 20 जून तक सीटों एवं अर्ह शिक्षकों का विवरण मांगा था। अधिकांश का विवरण आ गया है। सत्र 2021-22 की प्रवेश प्रक्रिया को पूरा करने के बाद दिसम्बर में सत्र 2022-23 की प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी ।