मई के आखिरी में प्री मानसून में गर्मी से मामूली राहत मिलेगी, वैज्ञानिकों की मानें तो तापमान 38 से 41 डिग्री सेल्सियस तक रहने की उम्मीद है

लखनऊ. मई का महीना चल रहा है और एक हिस्सा गुजर चुका है. गर्मी से लोगों को परेशान हो रहे हैं लेकिन आने वाले कुछ दिनों में अप्रैल जैसे हालात मई में नहीं रहेंगे. इस बार अप्रैल महीने में ही मई का एहसास लोगों को हो गया था. पारा 45 डिग्री तक पहुंच गया था लेकिन अफगानिस्तान और पाकिस्तान में दूरदराज पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते मई के आखिरी में प्री मानसून की गतिविधियों के कारण मई में गर्मी से मामूली राहत मिलेगी. मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो तापमान इस दौरान 38 से 41 डिग्री सेल्सियस तक रहने की उम्मीद है.

मई के दूसरे तीसरे और चौथे हफ्ते में जो तापमान 44 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता था लेकिन वह 38 से 40 डिग्री सेल्सियस तक ही रहने के आसार नजर आ रहे हैं. दीर्घ अवधि पूर्वानुमान ने पहले ही तापमान सामान्य रहेगा. अगले 6 दिनों तक दिन का तापमान 38 से 41 डिग्री रहने की संभावना है. रात में थोड़ी गर्मी बढ़ सकती है. न्यूनतम तापमान 27 से 28 डिग्री ले सकता है. वहीं दिन में बादलों के आसमान पर मंडराने की वजह से लोगों को राहत मिलेगी.

मंगलवार भी दिन में कहीं ना कहीं बादल छाया रात को ठंडी हवाएं चलीं. कुछ जगहों पर आंधी के आसार भी बने. हालांकि उमस में भी से बढ़ोतरी हुई. लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता का कहना है कि उड़ीसा की तरफ तैयार हो रहे तूफान का असर यूपी पर पड़ने की उम्मीद बिल्कुल कम है. इसका असर बिहार तक हो सकता है. पिछले 11 साल में मई में कभी तापमान 45 डिग्री के पास नहीं गया. अब तक मई में सर्वाधिक तापमान 21 मई 1995 को 46.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.