5 से 15 अगस्त तक ऐतिहासिक स्मारकों में प्रवेश मुफ्त, मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया

देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। आज से देश में तिरंगा उत्सव की भी शुरुआत हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से 13 से 15 अगस्त के बीच हर घर तिरंगा फहराने का आह्वान भी किया है। इसी कड़ी में आज एक बार फिर से मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दरअसल, केंद्र की संस्कृति मंत्रालय ने अपने फैसले में कहा है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीन संचालित देश की सभी संरक्षित स्मारकों पर 5 से 15 अगस्त के बीच मुफ्त प्रवेश रहेगा। अपने आप में यह बड़ा फैसला है। यह उन पर्यटकों को आकर्षित करेगा जो भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीन संचालित संरक्षित स्मारकों का दीदार करना चाहते हैं। किसी भी पर्यटक को कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलब्ध में संस्कृति मंत्रालय ने यह बड़ा फैसला लिया है। देश में ऐसा पहली बार हो रहा है। इस संबंध में संस्कृति मंत्रालय की ओर से एक आदेश जारी हुआ है। उसे खुद भारत सरकार के केंद्रीय संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने भी ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में जी किशन रेड्डी ने लिखा कि आज़ादी का अमृत महोत्सव और 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के तहत एएसआई ने पांच से 15 अगस्त, 2022 तक देश भर में अपने सभी संरक्षित स्मारकों/स्थलों पर आगंतुकों/पर्यटकों के लिए प्रवेश निशुल्क किया है। यह भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आज़ादी का अमृत महोत्सव समारोह के हिस्से के रूप में किया जा रहा है।

वहीं, संस्कृति मंत्रालय आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष में मनाया जा रहे अमृत महोत्सव के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम का भी आयोजन कर रहा है। तिरंगा उत्सव अभियान का भी आयोजन संस्कृति मंत्रालय की ही ओर से किया जा रहा है। सरकार के इस फैसले के बाद ताज महल, लाल किला, कुतुब मीनार, सांची के स्तूप, खजुराहो, फतेहपुर सीकरी, हुमायूं का मकबरा आदि चीजों का दर्शन पर्यटन मुफ्त में कर सकेंगे। वर्तमान में देश से में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के संरक्षण में 3691 स्मारक है जिसमें सबसे ज्यादा 745 स्मारक उत्तर प्रदेश में है। इनमें से 143 स्थलों पर प्रवेश के लिए टिकट भी लगता है जिन जगहों पर टिकट लगता है। वहां इन 10 दिनों के दौरान फ्री में प्रवेश मिलेगा।