इलाज करवाने के लिए ईएसआई कर्मचारियों को अब नहीं जाना पड़ेगा बाहर, बनेगा सौ बेड का अस्पताल

गोरखपुर में कर्मचारी राज्य बीमा निगम के सौ बेड का अस्पताल खुलने का रास्ता साफ हो गया है। यहां पहले से ही 50 बेड के अस्पताल का प्रस्ताव पास हो चुका था। अब उसकी जगह सौ बेड का अस्पताल बनेगा। कर्मचारी राज्य बीमा निमग के सौ बेड का गया अस्पताल खुलने का रास्ता साफ हो है। अभी तक यहां के कर्मचारियों को इलाज के लिए कानपुर, वाराणसी, गाजियाबाद या लखनऊ जाना पड़ता था। अब यही पर उपचार व आपरेशन की बेहतर सुविधा मिल सकेगी। यहां जिला अस्पताल परिसर में एक भवन में ईएसआई का अस्पताल चलता है। एक डॉक्टर व एक स्टॉफ यहां काम करता है। सामान्य रोगों का उपचार यहां किया जाता है। गंभीर रोगियों को रेफर करना पड़ता है।

क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ के उपनिदेशक हरिओम प्रकाश ने बताया कि निगम ने यह योजना बनाई है। जमीन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की जाएगी। जमीन मिलते ही उपचार शुरु हो जाएगा।

इन विशेषज्ञ चिकित्सकों की होगी नियुक्ति

फिजिशियन, स्त्री एंव पसूति रोग, आंख नाक, कान गला,दांत, गैस्ट्रों, न्यूरों सहित कई डॉक्टर तैनात किए जाएंगे। अत्याधुनिक ऑपरेशन थियेटर का निर्माण किया जाएगा।

पहले पास हुआ था पचास बेड का अस्पताल

वर्ष 2017-18 में पचास बेड का अस्पताल पास हुआ था। अब उसकी जगह सौ बेड के अस्पताल निर्माण किया जाएगा। कर्मचारी राज्य बीमा निगम, कर्मचारियों के लिए बीमा धनराशि का प्रबंध करता है। यह स्ववित्तपोषित सामाजिक सुरक्षा एंव स्वास्थ्य बीमा योजना है। सभी स्थायी कर्मचारी जो 21 हजार से कम वेतन पाते है। इसके पात्र हैं। इसमें कर्मचारी का वेतन का 75 प्रतिशत व रोजगार प्रदाता का 3.25 प्रतिशत रहता है।