आगरा में मिड डे मील में बच्चों को परोसे जाएंगे स्वादिष्ट पकवान

उत्तरप्रदेश : बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में सरकार के निर्देश पर एक सप्ताह के लिए मध्याह्न भोजन का मेन्यू पूरी तरह से बदल जाएगा. सात दिन तक बच्चों को तहरी की जगह सब्जी, रोटी, दाल, चावल, स्वादिष्ट व्यंजन परोसे जाएंगे। आदेश के अनुसार इस दौरान बच्चों को न केवल हलवा, खीर, पूरी बल्कि फल भी दिए जाएंगे. वहीं मिठाई में लड्डू या बूंदी भी परोसी जाएगी। इससे बच्चों में खुशी की लहर है। देश भर के बच्चों में कुपोषण की कमी को दूर करने के लिए सरकारी स्कूलों में बच्चों को मध्याह्न भोजन उपलब्ध कराया जाता है। मध्याह्न भोजन में बच्चों को एक बार का पौष्टिक भोजन दिया जाता है। इसका एक उद्देश्य देश के गरीब तबके के बीच कुपोषण की समस्या को खत्म करना है।

2880 विद्यालयों में 2.75 लाख बच्चों को लाभः

यह व्यवस्था बच्चों को स्वतंत्रता संग्राम एवं सेनानियों की जानकारी देने एवं जागृति के साथ-साथ विद्यालय से दूर रहे बच्चों में अरुचि की भावना को दूर करने के उद्देश्य से की जा रही है। लंबे समय से कोरोना काल में। एमडीएम में स्वादिष्ट व्यंजन बनाए जाएंगे और बच्चों को खाने के लिए परोसे जाएंगे। इतना ही नहीं इस मौके पर कुछ स्कूलों को गुब्बारों और रंगोली से भी सजाया जाएगा। कमरों में भी सजावट की जाएगी। कुछ स्कूलों की पेंटिंग भी कराई गई है। इस योजना से जिले के 2880 विद्यालयों के 2.75 लाख बच्चे लाभान्वित होंगे।