नकली नोट के बड़े गिरोह का हुआ भंडाफोड़, पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी

सीतामढ़ी : बिहार के सीतामढ़ी में पुलिस को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है। पुलिस ने 11 लाख 66 हजार रुपए से अधिक के नकली नोट जब्त किए हैं। पुलिस ने इस मामले में दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। अपराधियों की पहचान डुमरा थाना इलाके के सिमरा निवासी वारिस मियां और दरभंगा जिला के जाले थाना के रेवढा निवासी नेवाज अहमद के तौर पर हुई है। सीतामढ़ी के एसपी ने कहा कि उन्हें गुप्त तहरीरप्राप्त हुई थी कि मोटरसाइकिल सवार दो व्यक्ति जाली नोट लेकर खड़का से सीतामढ़ी जाने वाला है। नानपुर थानाध्यक्ष राकेश रंजन के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन कर छापेमारी और जांच का आदेश दिया।

पुलिस पुलिस ने थाना इलाके के मझौर एवं हरिनगर मुख्य सड़क पर वाहन चेकिंग अभियान आरम्भ किया। एक बाइक पर दो सवार लोग सवार थे। पुलिस की गाड़ी देखकर दोनों भागने लगे। पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए दोनों अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर नेयाज अहमद के प्लास्टिक के झोला से 11,66,750 रुपए अखबार से ढका प्राप्त हुआ। तस्करों के पास से बिना नंबर की मोटरसाइकिल जब्त की गई, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया।

पुलिस पूछताछ के चलते नेयाज ने बताया कि जाली नोट पश्चिम बंगाल के मालदह से छोटू से मंगवाया गया था। इसे मेजरगंज थाना इलाके के कुवारी निवासी कन्हाई सिंह और सतार मिया को डिलीवरी करने जा रहा था। पुलिस के अनुसार, ये पूरा रैकेट बंगाल से ऑपरेट होता है। पुलिस को इसके तार बंगाल के साथ पाकिस्तान से जुड़े होने का शक है, जिसकी तहकीकात की जा रही है।