आगरा के कमलानगर थाने में विदेशी तोता से जुड़ा एक दिलचस्प मामला सामने आया

आगरा के कमलानगर थाने में विदेशी तोता से जुड़ा एक दिलचस्प मामला सामने आया। विदेशी तोते पर मालिकाना हक को लेकर दो पक्षों में झगड़ा हुआ तो कहानी में पुलिस एंट्री हो गई। 3 घंटे तक थाने में बहस हुई। आखिर में तोते ने खुद ही अपना मालिक चुन लिया।

बल्केश्वर निवासी एक परिवार पिछले 3 वर्ष से एक विदेशी तोते को पाल रहा है। उससे परिवार के लोगों का गहरा लगाव हो गया। इसी बीच शनिवार को वो व्यक्ति घर पर आया, जिससे उन्होंने इस तोते को लिया था। व्यक्ति ने तोते को वापस करने की मांग की तो दूसरे पक्ष ने मना कर दी। धीरे-धीरे दोनों तरफ से कहासुनी होने लगी। सूचना पर थाना कमलानगर पुलिस मौके पर पहुंच गई और विदेशी तोते के साथ दोनों पक्षों को थाने ले आई। कई घंटे तक पुलिस भी यह फैसला नहीं कर पाई कि आखिर तोते पर असली मालिकाना हक किसका बनता है, पालने वाले का या देने वाले का।

थाने में चल रहे विदेशी तातो के विवाद की कहानी पुलिस के उच्चाधिकारी तक पहुंच गई। उन्होंने थानाध्यक्ष विपिन कुमार गौतम को एक आइडिया दिया और उसके हिसाब से तोते के असली मालिक की पहचान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि तोते का जिस पार्टी लगाव हो, तोता उसी को दे दिया जाए।