Agra University: प्रैक्टिकल परीक्षा के अंक अंक तालिका से गायब, 50 हजार छात्र परेशान

डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय के 150 कॉलेजों ने व्यावहारिक परीक्षा के अंकों का सत्यापन नहीं किया है, जिसके कारण अंक तालिका में मार्क वेटिंग (मेगावाट) आ रहा है।

डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय के सत्र 2021-22 की परीक्षा के बाद अंक तालिका आ गई है, लेकिन इनमें मिली गड़बड़ी को देखकर छात्र परेशान हैं. कॉलेजों की लापरवाही से 50 हजार छात्रों को परेशानी हो रही है। लगभग 150 कॉलेजों ने व्यावहारिक परीक्षा के अंकों का सत्यापन नहीं किया है। इसी के साथ अंक तालिका में मार्क वेटिंग (मेगावाट) आ रहा है। नोटिस देने के बाद भी कॉलेज संचालकों ने सत्यापन नहीं किया।

ये बोले परीक्षा नियंत्रक 

परीक्षा नियंत्रक डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि विश्वविद्यालय से संबद्ध 411 कॉलेजों ने सत्र 2021-22 के लिए विभिन्न पाठ्यक्रमों की प्रायोगिक परीक्षा के अंक वेबसाइट पर अपलोड कर दिए हैं. इन्हें संबंधित कॉलेज द्वारा अपनी लॉगिन आईडी से सत्यापित करना होगा। 184 कॉलेजों ने अंकों का सत्यापन नहीं किया, उन्हें 185 सितंबर तक की अंतिम तिथि दी गई। इनमें से 150 से अधिक कॉलेजों ने अभी तक अंकों का सत्यापन नहीं किया है। प्रैक्टिकल परीक्षा के अंक 50 हजार से अधिक छात्रों की मार्कशीट में दर्ज नहीं किए गए हैं।

कॉलेजों की सूची भेजी गई कुलपति के पास

परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि उन पर मार्क वेटिंग (मेगावाट) दर्ज है। इसके कारण छात्रों की मार्कशीट नहीं छापी जा रही है। जरूरत पड़ने पर छात्र डिजिटल मार्कशीट प्रिंट करवा रहा है, लेकिन मेगावाट होने के कारण उसे पास नहीं माना जाता है। इन कॉलेजों की सूची बनाकर कुलपति को कार्रवाई के लिए भेजा गया है।