Agra News: स्मार्ट एप करनी होगी डाउनलाेड, पल भर में पता चलेगा इलेक्ट्रिक बस का स्टॉपेज और समय

इस स्मार्ट एप को आगरा न्यूज इलेक्ट्रिक सिटी बसों के जीपीएस से जोड़ा जाएगा। आगरा-मथुरा सिटी ट्रांसपोर्ट ने एमजी रोड समेत विभिन्न रूटों के लिए 100 इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी है, लेकिन अब तक 63 ही मिली हैं. ऐसे में यात्रियों को इंतजार करना पड़ता है।

भगवान टॉकीज चौराहे पर इलेक्ट्रिक सिटी बस का इंतजार कर रहे प्रदीप ने बताया कि उन्हें सेवला जाना है, लेकिन बस 40 मिनट से इंतजार कर रही है. इसी बीच एक बस आई, लेकिन वह तुरंत भर गई। कोचिंग से घर लौटना हर दिन मुश्किल होता है।

आगरा कॉलेज के पास सुरसदन जाते समय राहुल भी आधे घंटे तक बस का इंतजार कर रहा था। एमजी रोड समेत विभिन्न रूटों पर रोजाना मुश्किलों का सामना कर रहे यात्रियों को जल्द राहत मिलने वाली है. सिटी बसों की लोकेशन जानने के लिए एक ऐप विकसित किया जा रहा है कि वे कितने समय में पहुंचेंगी, वे अभी कहां हैं। जल्द ही इसका लिंक आगरा स्मार्ट सिटी की वेबसाइट पर उपलब्ध होगा, जिसे डाउनलोड कर इस्तेमाल किया जा सकता है।

आगरा-मथुरा सिटी ट्रांसपोर्ट ने एमजी रोड समेत विभिन्न रूटों के लिए 100 इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी है, लेकिन अब तक 63 ही मिली हैं. इसमें से 50 से 55 ही संचालित होते हैं। ऐसे में विभाग को फिलहाल बसों की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे में जिन रूटों पर बसें चलाई जा रही हैं, वहां यात्रियों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है. वहीं, कई ऐसे रूट हैं, जिन पर अभी भी बसों का इंतजार है। बसों के जल्द आने की उम्मीद है, लेकिन उनके संचालन में सुधार के प्रयास भी किए जा रहे हैं।

प्ले स्टोर से कर सकेंगे डाउनलाेड

यात्रियों की सुविधा के लिए संभागीय आयुक्त के निर्देश पर एक एप तैयार किया जा रहा है, जिसे मोबाइल में गूगल प्ले के जरिए डाउनलोड किया जा सकता है. यह एप बसों में लगे ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) से जुड़ा होगा। इससे बसों के संचालन की स्थिति मानचित्र द्वारा प्रदर्शित होगी, फिर यह भी पता चल जाएगा कि निर्धारित स्थान पर बस कब तक पहुंचेगी। विभाग ऐप के जरिए यात्रियों को और सुविधाएं देने की योजना बना रहा है।

निर्धारित स्टापेज पर रुकी या नहीं रहेगी नजर

एमजी रोड पर सिटी बसें अपने स्टॉपेज पर रुकती हैं या नहीं इस पर भी विभाग नजर रखेगा। यदि कोई बस चालक, परिचालक गलती करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यात्रियों के लिए इलेक्ट्रिक सिटी बसों की स्थिति जानने के लिए एक ऐप तैयार किया जा रहा है। जल्द ही ये यात्री इसका लाभ उठा सकेंगे।