Agra News: कर्ज एप पर था भारी, बिना सहमति के दिया कर्ज, अब दोगुने से ज्यादा राशि जमा कराने पर बढ़ रहा है सम्मान

एक निजी कंपनी के कर्मचारी को उसकी सहमति के बिना दो बार ऋण दिया गया था। अब परिचितों को फोन कर राशि जमा कराने का दबाव बनाया जा रहा है।

आगरा में मोबाइल पर लोन एप डाउनलोड करने पर एक युवक ने जमकर धमाल मचाया। ऐप कंपनी ने बिना उनकी मर्जी के उन्हें दो बार कर्ज दिया। सात दिन में दोगुने से अधिक राशि जमा कराने का दबाव बनाया। नहीं मानने पर मोबाइल से नंबर लेकर अपने परिचितों को फोन कर बदनाम किया जा रहा है। पीड़िता ने साइबर सेल में शिकायत की है।

 

ताजगंज निवासी आसिफ एक निजी कंपनी में कार्यरत है। उसने पुलिस को बताया कि उसने 22 अगस्त को फेसबुक पर अपना स्टेटस अपडेट करते हुए एक लोन एप का विज्ञापन देखकर क्लिक किया। मोबाइल में डाउनलोड हुआ ऐप। एप शुरू करने की जानकारी मांगी गई, जो उन्होंने दी। कुछ समय बाद ऐप से लोन देने की प्रक्रिया शुरू की गई। जब उन्हें पता चला तो उन्होंने इस प्रक्रिया को रोक दिया। लेकिन, बताया गया कि ऐप से लोन की मंजूरी मिल गई है। खाते में राशि ट्रांसफर की जा रही है। सात हजार रुपए भी आ गए हैं। अगले ही दिन उससे कहा गया कि 12,812 रुपये सात दिन में लौटाने होंगे।

आसिफ के मुताबिक सात दिन में दोगुने के बराबर रकम लौटाने की सूचना पर उनके होश उड़ गए. कर्ज वापस करने के लिए कहने पर उसने उससे 5812 रुपये जमा करा दिए। शेष राशि सात दिन में जमा कराने को कहा गया है। अब 12,812 रुपये की मांग की जा रही है। कहा गया था कि बाकी रकम कैश बैक में लौटा दी जाएगी। कुछ दिनों बाद उसके खाते में दस हजार रुपये भेजे गए। उन्हें लगा कि उन्हें कैश बैक मिल गया है। लेकिन, बाद में बताया कि एक और कर्ज मंजूर है। अब उनसे 17,802 रुपये की मांग की जा रही है। कर्ज देने वाली कंपनी के कर्मचारी रिश्तेदारों व परिचितों को फोन कर उन्हें बदनाम कर रहे हैं। उनसे पैसे जमा कराने को कहा।