Agra News: अग्निवीर भर्ती रैली के लिए आगरा आए जालैन के युवक की मौत, बारिश में लगा करंट

आगरा समाचार जालौन निवासी निशांत पुलिस चौकी पर बैठा है। सेना के अधिकारियों का कहना है कि यह मामला कैंपस के बाहर का है. शुक्रवार को चौथे दिन 5868 युवाओं ने रैली में हिस्सा लिया. शनिवार को इटावा और फिरोजाबाद के युवाओं को मौका मिलेगा।

अग्निवीर भर्ती रैली में शामिल होने आए एक युवक की करंट लगने से मौत हो गई। वह जालौन का रहने वाला है। युवक की मौत के बाद रैली नहीं रुकी है. शुक्रवार को जालौन व इटावा के युवक भागे। रैली के लिए 8727 युवाओं ने पंजीकरण कराया था जिसमें 5868 युवाओं ने भाग लिया। रैली में बड़ी संख्या में युवा फेल हुए। शनिवार को रैली में इटावा और फिरोजाबाद के युवाओं को मौका मिलेगा.

आनंद इंजीनियरिंग कॉलेज में सेना भर्ती कार्यालय द्वारा 10 अक्टूबर तक अग्निवीर भर्ती रैली का आयोजन किया जा रहा है। इसमें प्रतिदिन पांच से छह हजार युवा भाग ले रहे हैं। गुरुवार रात 12 बजे भरथना, तखा, जालौन के उरई, मधौगढ़ और इटावा के कोंच के 5868 युवक रैली में शामिल हुए. इसमें जालौन के जय प्रकाश नगर निवासी निशांत यादव भी शामिल था।

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि निशांत ने रैली में हिस्सा लिया और फिर मैदान से बाहर आ गए. घर लौटने के लिए बस में बैठे-बैठे हाथ ऊपर से गुजर रहे बिजली के तार को छू गया। इससे करंट लगा और उसकी मौत हो गई। निशांत की मौत की सूचना परिजनों को दी गई। परिजन सिकंदरा थाने पहुंच गए हैं। अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। यह पहला मौका है जब रैली में शामिल होने आए किसी युवक की मौत हुई है।

हाईटेंशन लाइन से लगा करंट

भर्ती स्थल से कुछ दूरी पर स्थित मां वैष्णो होटल एंड रेस्टोरेंट के सामने बस में चढ़ते समय जालौन निवासी 22 वर्षीय निशांत यादव हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया. हादसा गुरुवार रात करीब साढ़े तीन बजे हुआ। साथी उम्मीदवार उन्हें एसएन इमरजेंसी ले गए, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। निशांत यादव के साथ भर्ती देखने पहुंचे आयुष ने बताया कि निशांत यादव को दोपहर 1:30 बजे उनके छोटे कद के कारण भर्ती रैली में खारिज कर दिया गया था। इसके बाद वह मथुरा जाने के लिए वहां खड़ी बस की छत से अपने साथियों को बुलाने के लिए चढ़ गया। तभी वह हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया।

बारिश में नहीं थमी रैली

लगातार हो रही बारिश के बीच भी भर्ती रैली जारी है। मैदान में पानी भरने के बावजूद युवा अपने दम−खम का प्रदर्शन कर रहे हैं।