Agra: नगर पंचायत अध्यक्ष की गिरफ्तारी को पुलिस की दबिश, पुत्र और भाई को पहले ही भेज चुकी है जेल

अधिशासी अधिकारी को बंधक बनाने के मामले में नगर पंचायत अध्यक्ष की मुश्किलें बढ़ गई हैं। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

आगरा में अधिशासी अधिकारी को बंधक बनाने सहित अन्य आरोप में नगर पंचायत अध्यक्ष आशा देवी चक के खिलाफ थाना फतेहाबाद में मुकदमा दर्ज है। पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी की तैयारी कर ली है। इसके लिए दबिश दी जा रही है।

नगर पंचायत अध्यक्ष आशा देवी चक एवं अधिशासी अधिकारी डॉ. कल्पना वाजपेयी के बीच 18 नवंबर को विवाद हो गया था। इस मामले में कल्पना वाजपेयी की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया, जिसमें नगर पंचायत अध्यक्ष, उनके पुत्र और भाई को नामजद किया गया। इसी तरह का एक मुकदमा पुलिस ने भी अपनी ओर से भी दर्ज किया।

पुत्र और भाई को पुलिस भेज चुकी है जेल 

नगर पंचायत अध्यक्ष के पुत्र और भाई को पुलिस गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है। इस मामले में अब नगर पंचायत अध्यक्ष की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। उनके संभावित ठिकानों पर पुलिस ने दबिश दी। हालांकि वे मिली नहीं।  क्षेत्राधिकारी फतेहाबाद सौरभ सिंह ने बताया कि पुलिस की दबिश लगातार जारी है।

अधूरे काम के बिलों पर स्वीकृति की मोहर लगवाए जाने के लेकर हुए विवाद में अधिशासी अधिकारी द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे से नगर पंचायत अध्यक्ष की मुश्किलें बढ़ गई हैं। सूत्रों के मुताबिक इनके कार्यकाल में अधिशासी अधिकारी रहे अन्य अधिकारियों से भी पूछताछ कर जानकारी जुटाई जा रही है।