92 लाख रुपये की बकायेदारी न चुकाने पर प्रशासन ने नेशनल इंश्योरेंस कंपनी का ऑफिस किया सील

आगरा में 92 लाख रुपये की डिफॉल्टर नेशनल इंश्योरेंस कंपनी पर प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है. कई बार नोटिस व खाता कुर्क करने के बाद भी बीमा कंपनी ने राशि का भुगतान नहीं किया। यह वसूली करीब दो साल से लंबित थी, जिसके बाद शुक्रवार को सदर तहसील की टीम ने कार्रवाई की.

सदर तहसील की टीम ने 12 मामलों में 92 लाख रुपये की किश्तों का भुगतान नहीं करने पर शुक्रवार को हरिपर्वत स्थित नेशनल इंश्योरेंस कंपनी के कार्यालय को सील कर दिया. नेशनल इंश्योरेंस कंपनी पर आगरा-फिरोजाबाद के मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल (एमएसीटी) के मामलों में बकायेदारी थी। कई बार चेतावनियों के बाद यह कार्रवाई की गई हैं

तहसीलदार सदर रजनीश वाजपेयी के नेतृत्व में तहसील टीम ने हरिपर्वत के दिल्ली गेट स्थित नेशनल इंश्योरेंस कंपनी के मुख्य गेट को सील कर दोपहर चार बजे नोटिस चस्पा किया. तहसीलदार रजनीश बाजपेयी ने कहा कि कंपनी ने कई वाहन दुर्घटना के मामलों में एमएसीटी को जुर्माना भरने में विफल रही है. राजस्व विभाग ने कंपनी को नोटिस जारी किया है। हालांकि, कंपनी ने लगभग 92 लाख रुपये की बकाया राशि जमा नहीं की। इस पर उनके कार्यालय को सील कर दिया गया।