आगरा जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर टीबी के करीब 3 हजार मरीजों की स्क्रीनिंग हुई

निक्षय दिवस पर जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर लोगों को टीबी के प्रति जागरूक किया गया। करीब 3 हजार संभावित टीबी मरीजों की स्क्रीनिंग की गई। 295 मरीजों के बलगम का स्पुटम भी लिए गए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि 215 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, 53 डेजिग्नेटेड माइक्रोस्कोपी सेंटर ( डीएमसी) 26 टीबी यूनिट, 44 प्राइमरी हेल्थ इंस्टीट्यूट (पीएचआई) और 30 अर्बन पीएचसी पर निक्षय दिवस मनाया गया। इस तरह पूरे जनपद में करीब 368 स्थानों पर एक्टिविटी हुई। ओपीडी में आने वाले मरीजों को बताया गया कि 2 सप्ताह से अधिक समय तक खांसी आने या लगातार बुखार आने तथा वजन घटने से जैसे लक्षण होने पर टीबी की जांच अवश्य कराएं। सरकार द्वारा जांच व उपचार मुफ्त कराया जा रहा है। टीबी मरीजों को स्वस्थ होने तक उनके बैंक खाते में निक्षय पोषण योजना के तहत 500 रुपये प्रतिमाह भी दिए जाते हैं।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सीएल ने बताया कि ओपीडी में आने वाले दस प्रतिशत मरीजों की टीबी की जांच की गई। आशाओं द्वारा घर-घर जाकर मरीजों की जांच कराई गई। बिचपुरी ब्लॉक के उप स्वास्थ्य केंद्र अंगूठी में निक्षय दिवस का आयोजन हुआ। प्रभारी सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र दुबे ने बताया कि छात्र-छात्राओं के साथ उनके अभिभावकों को भी टीबी के बारे में जागरुक किया गया।

जिला पीपीएम समन्वयक अरविंद यादव ने बताया कि सभी केंद्रों पर टीबी सेंपल कलेक्शन एकान्त में खुली जगह पर बनाए गए। जिला टीबी- एचआईवी समन्वयक पंकज सिंह ने अंगूठी गांव में पहुंचकर अभियान का गति दी।