आगरा के एक युवक ने शादी के 9 महीने बाद गर्भवती पत्नी को घर से भगाया

आगरा के एक युवक ने अपनी पहली पत्नी को तलाक देने के बाद गरीब परिवार से पहली शादी की बात छिपाकर बेटी से शादी कर ली। ससुर के बुरी नियत रखने की शिकायत पर सात माह की गर्भवती पत्नी को घर से भगा दिया। बेटी पैदा होने के बाद जब दुल्हन ससुराल पहुंची तो ससुर ने उस पर कुत्ते को छोड़ दिया , पीड़िता का आरोप है कि ससुर ने कोर्ट के माध्यम से उस पर झूठा चोरी का मुकदमा दर्ज करा दिया। पीड़िता डेढ़ माह की बच्ची के साथ भटकने को मजबूर है। पीड़िता ने मुख्यमंत्री से मामले की शिकायत की है। सोशल मीडिया पर गुहार लगाने का वीडियो वायरल हो रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो की जानकारी करने पर पीड़िता के बारे में पता चला।पीड़िता ने बताया की वो एटा जिले के थाना पिलुआ के गोकुलपुर गांव की रहने वाली प्रीति कुशवाह है, उसकी बुआ के जरिए उनके परिवार के पास आगरा के थाना एम एम गेट अंतर्गत मोती कटरा नई गली निवासी चांदी व्यवसाई गगन अग्रवाल पुत्र वीरेंद्र का रिश्ता आया था। लॉकडाउन के समय 20 जून 2021 को उनकी शादी हो गई।

पति पहले भी कर चुका था शादी

प्रीति ने बताया की शादी के बाद पता चला की पति की पहले एक शादी हो चुकी है और उसके दो बेटियां हैं। इस पर ससुरालीजनों ने उसे तलाक के कागजात दिखाए तो उसने विरोध खत्म कर दिया। पति छत्तीसगढ़ में काम करते थे और महीने में एक दो दिन के लिए ही आते थे।

ससुर रखता था बुरी नियत

प्रीति ने बताया की ससुर उस पर बुरी नियत रखता था। उसका बात करने और छूने का तरीका उसे अच्छा नहीं लगता था। शादी के सात माह बाद उसे गर्भ ठहरा और दो माह बीतने पर ससुर की हरकतों की शिकायत उसने सास और पति से कर दी। इसके बाद पति ने उसे घर से निकाल दिया। डेढ़ माह पूर्व उसने बच्ची को जन्म दिया। अब जब वो घर जाती है तो कोई उसे अंदर नहीं आने देता है और ससुर कुत्ते को खोल देता है। अपनी और बेटी की जान के खतरे के चलते ससुराल भी नहीं जा पा रही हूं।