स्वतंत्रता दिवस से पहले 2 पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार, लीक कर रहा था सेना की जानकारी

जयपुर: स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) से पहले राजस्थान पुलिस की खुफिया एजेंसी ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में दो लोगों को अरेस्ट किया है। आरोपियों की शिनाख्त भीलवाड़ा निवासी 27 साल के नारायण लाल गदरी और जयपुर के 24 साल के कुलदीप सिंह शेखावत के रूप में की गई है। खुफिया एजेंसियों ने उनसे संयुक्त रूप से पूछताछ की। अधिकारियों ने बताया है कि गदरी ने पाकिस्तानी हैंडलर को कई कंपनियों के सिम कार्ड उपलब्ध कराए थे, जिनका उपयोग पाकिस्तानी हैंडलर सोशल मीडिया हैंडल चलाने के लिए करते थे। वहीं, कुलदीप सिंह शेखावत पाली में एक शराब की दुकान में सेल्समैन की नौकरी करता था। वह पाकिस्तानी महिला हैंडलर के संपर्क में था। खुफिया एजेंसी के उमेश मिश्रा ने कहा है कि कुलदीप शेखावत सेना के जवानों से सोशल मीडिया पर दोस्ती करने के बाद उनसे गोपनीय सूचनाएं प्राप्त करता था। उन्होंने कहा कि दोनों को जासूसी करने और पाकिस्तानी हैंडलरों की सहायता करने के बदले में पैसे मिल रहे थे। उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस वर्ष की शुरुआत में नारायण लाल को फेसबुक पर एक लिंक मिला था। इसके माध्यम से वह ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप पर शामिल हुआ, जिस पर अश्लील सामग्री परोसी जाती थी। व्हाट्सएप ग्रुप में पाकिस्तान समेत कई देशों के लगभग 250 से अधिक सदस्य थे। हालांकि आरोपी नारायण लाल ने दावा किया कि वह एक सप्ताह बाद ही इस ग्रुप से एग्जिट हो गया था।