नगर निकाय चुनाव 2022: आगरा में चिह्नित होंगे संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदेय स्थल

नगर निगम के अलावा जिले में सात नगर पंचायत व पांच नगर पालिका परिषद हैं। जिनका कार्यकाल दिसंबर 2022 तक खत्म हो जाएगा। प्रशासन चुनावी तैयारियों में जुटा है।

आगरा में नगर निकाय चुनाव 2022 के लिए मतदेय स्थलों की मैपिंग तीन श्रेणियों में होगी। संवेदनशील, अति संवेदनशील मतदेय स्थल चिह्नित होंगे। साथ ही मतदेय स्थलों पर उपलब्ध सुविधाओं का सर्वे होगा। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने सभी मतदेय स्थलों का नक्शा-नजरी तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

नगर निगम के अलावा जिले में सात नगर पंचायत व पांच नगर पालिका परिषद हैं। जिनका कार्यकाल दिसंबर 2022 तक खत्म हो जाएगा। प्रशासन चुनावी तैयारियों में जुटा है। एक तरफ बीएलओ से घर-घर मतदाताओं का सत्यापन कराया जा रहा है, दूसरी तरफ डीएम नवनीत चहल ने सभी मतदेय स्थलों का नक्शा बनाने के निर्देश दिए हैं।

नक्शे में यह ब्योरा होगा दर्ज 

नक्शे में मतदेय स्थल से सड़क की दूरी, भवन संख्या एवं उपलब्ध सुविधाओं का ब्योरा भी दर्ज होगा। पिछले चुनाव में हुए घटनाओं व भौतिक स्थिति के आधार पर मतदेय स्थलों को तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा। शहर में 100 वार्डों के मतदेय स्थलों की मैपिंग के लिए नगर निगम के पांच अधिकारियों को नामित किया है।

पुनरीक्षण के लिए अफसर नियुक्त

जिला निर्वाचन अधिकारी नवनीत चहल के आदेश पर नगर निकायों की मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण के लिए बीएलओ, पर्यवेक्षक व सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। प्रत्येक मतदान स्थल पर एक बीएलओ, 5 से 10 बीएलओ पर एक पयर्वक्षक एवं 5 से 8 पर्यवेक्षकों पर एक सेक्टर मजिस्ट्रेट निगरानी करेगा।