आगरा में राम बरात : मां जानकी के हाथों बनी मेहंदी, आज श्रीराम होंगे दूल्हा, जनकपुरी स्वागत को बेताब

आगरा में मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के स्वागत के लिए जनकपुरी को दुल्हन की तरह तैयार किया जाता है। दयालबाग में दो साल बाद जनकपुरी महोत्सव का आयोजन हो रहा है। श्री राम बारात बुधवार शाम रावतपाड़ा के लाला चन्नोमल की बारादरी से रवाना होंगे। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। जनकपुरी के लोग श्री राम बारात के स्वागत को बेताब हैं। मिथिलानगरी में खुशी का माहौल है। मंगल गीत गूंज रहे हैं। जगह-जगह रिसेप्शन गेट बनाए गए हैं। राजा जनक के रूप में मंगलवार को आलोक अग्रवाल के फार्म हाउस में मेहंदी की रस्म हुई। सीता जी के रूप में आरती अग्रवाल और रानी सुनयना ने मेहंदी लगाई। इसमें परिवार के सदस्यों ने भी भाग लिया। खड़खड़ाया। मेरे भगवान राम, आप इंतजार कर रहे हैं… महिलाओं ने भजन गाए। देर रात तक कीर्तन हुआ। वहीं रामलीला कार्यक्रम में मंगलवार को कमला नगर स्थित राजा दशरथ के रूप में संजय मित्तल के आवास पर मेहंदी की रस्म हुई.

मंगलवार को राजा जनक के रूप में आलोक अग्रवाल के फार्म हाउस में मेहंदी की रस्म भी हुई। सीता जी के रूप में आरती अग्रवाल और रानी सुनयना ने मेहंदी लगाई। इसमें परिवार के सदस्यों ने भी भाग लिया। खड़खड़ाया। मेरे भगवान राम, आप इंतजार कर रहे हैं… महिलाओं ने भजन गाए। देर रात तक कीर्तन हुआ।

श्री रामलीला समिति के अध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने बताया कि श्री राम की बारात में 100 झांकियों के अलावा बैंड व अखाड़ा चलेगा. शहनाई और ढोल सबसे आगे रहेंगे। उनके पीछे चलने वाले दो ऊंट जुलूस के आकर्षण का केंद्र होंगे। उनके पीछे राजा दशरथ और रानी कौशल्या के परिवार का रथ दौड़ेगा।

बारात लाला चन्नोमल की बारादरी, मैन: कामेश्वर गली से शुरू, रावतपाड़ा, अग्रसेन मार्ग (ज्वेलर बाजार), सुभाष बाजार, लाला कोकमल मार्ग (दरेसी नंबर 1 और 2), चट्टा बाजार, कचहरी घाट, बेलनगंज, पथवारी, धूलियागंज, शहर यह स्टेशन रोड होते हुए रावतपाड़ा, खराब छिलके वाली ईंट, फुल्टी बाजार, सेवा का बाजार, किनारी बाजार, कसेराट बाजार में विश्राम करेगी। यहां से फिर यमुना मार्ग को पार करते हुए लॉर्ड टॉकीज होते हुए दयालबाग पहुंचेंगे।